भगोड़े व्यवसायी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी कानून का सामना करने के लिए वापस भारत आ रहे हैं- वित्त मंत्री सीतारमण 

समग्र समाचार सेवा

नई दिल्ली, 19 मार्च।

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि भगोड़े व्यवसायी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी कानून का सामना करने के लिए ‘वापस भारत आ रहे हैं।’ केन्द्र सरकार विजय माल्या और नीरव मोदी को ब्रिटेन से भारत लाने की कोशिश में जुटी है जबकि मेहुल चौकसी के बारे में ऐसा माना जा रहा है कि वह एंटीगुआ-बारबुडा में है।

बीमा संशोधन बिल पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में जवाब देते हुए निर्ला सीतारमण ने कहा- “विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी कानून का सामना करने के लिए वापस आ रहे हैं… एक-एक कर के हर कोई इस देश के कानून का सामना करने के लिए देश में वापस आ रहा है।”

माल्या अपनी दिवालिया किंगफिशर एयरलाइंस से जुड़े 9,000 करोड़ रुपये के बैंक ऋण को जानबूझ कर न चुकाने के आरोपी हैं, और मार्च 2016 से ब्रिटेन में हैं। जबकि, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पीएनबी के साथ कर्ज में धोखाधड़ी के आरोपी हैं. सीबीआई जांच शुरू होने से पहले 2018 में दोनों भारत से भाग गए।

बीमा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अधिकतम सीमा 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 74 प्रतिशत करने पर सीतारमण ने कहा कि हिस्सेदारी बढ़ने से कंपनियों का नियंत्रण विदेशी कंपनियों के पास चला जायेगा. लेकिन इन कंपनियों में निदेशक मंडल और प्रबंधन के महत्वपूर्ण पदों पर भारतीय लोग ही नियुक्त होंगे और उन पर भारतीय कानून लागू होगा।

 

 

बीमा संशोधन विधेयक पर चर्चा का उत्तर देते हुये सीतारमण ने कहा, ‘‘देश के कानून अब काफी परिपक्व हैं, देश में होने वाले किसी भी परिचालन को वे नियंत्रण में रख सकते हैं. (कोई भी) इसे (धन को) बाहर नहीं ले जा सकता है और हम देखते नहीं रह सकते हैं.’’ बीमा कंपनियों में विदेशी हिस्सेदारी बढ़ाने की वजह बताते हुये उन्होंने कहा कि बीमा कंपनियों पर नकदी का दबाव बढ़ रहा था. ऐसे में निवेश सीमा बढ़ने से उनकी बढ़ती पूंजी जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा।

 

नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का रास्ता साफ

पिछले महीने पीएनबी बैंक घोटाले में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के लंदन कोर्ट से प्रत्‍यर्पण का रास्‍ता साफ हो गया. इसके लिए लंदन की कोर्ट ने आदेश जारी कर दिया. सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक में धोखाधड़ी करने के बाद नीरव मोदी और उसके मामा चोकसी देश छोड़कर भाग गए थे. पीएनबी में मोदी पर 2 अरब डॉलर (लगभग 14,500 करोड़ रुपए) की धोखाधड़ी करने का आरोप है।

 

 

Comments are closed.