प्रधानमंत्री मोदी ने देश के युवाओं से किया आग्रह, स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में हो शामिल

समग्र समाचार सेवा
नई दिल्ली,11जनवरी।
पीएम मोदी ने आगामी 15-16 जनवरी को होने वाले स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘प्रारंभ’ से जुड़ने के लिए देश भर के युवाओं का आह्वान किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आगामी 15-16 जनवरी को होने वाले स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘प्रारंभ’’ से जुड़ने के लिए देश भर के युवाओं का आह्वान किया और कहा कि इस कार्यक्रम में उद्योग, निवेश, बैंकिग और वित्त जगत के श्रेष्ठ लोगों के अलावा स्टार्टअप से जुड़े युवा उद्यमी भी शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री ने सोमवार को एक लिंक्डेन पोस्ट भी शेयर किया जिसमें उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि कैसे कोविड-19 महामारी के संक्रमण काल में डिजीटल संवाद एक नया आयाम बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा लाभ है कि लोग घरों में बैठे हुए भी कार्यक्रमों का हिस्सा बन सकते हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अधिकांश कार्यक्रम इन दिनों डिजीटल माध्यम से हो रहे हैं जिससे युवाओं को विदेशी और घरेलू कार्यक्रमों में जुड़ने का मौका मिल रहा है। ऐसा ही एक मौका ‘प्रारंभ’ के रूप में 15-16 जनवरी को आ रहा है। मैं देश के युवाओं से इससे जुड़ने का आग्रह करता हूं।

इन कार्यक्रमों के जरिए वैज्ञानिकों, चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े पेशेवरों, कोरोना योद्धाओं, शिक्षाविदों, उद्योग जगत के नेताओं, युवा अन्वेषकों और आध्यात्मिक नेताओं से संवाद हुआ।’’
उन्होंने कहा कि डिजीटल माध्यम का उपयोग करके उन्होंने वि के नेताओं के साथ द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकें भी की। उन्होंने कहा कि इसी माध्यम से उन्होंने ‘‘मील का पत्थर’’ साबित होने वाली विकास की कई योजनाओं का उद्घाटन ओर शिलान्यास भी किया। यहां तक कि सरकारी योजनाओं के लाखों लाभार्थियों से भी मैंने संवाद किया।’’

सम्मेलन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि यह आयोजन भारत में स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत के पांच साल होने का गवाह भी बनेगा। उन्होंने कहा कि इस शुरुआत से भारत में वि का सबसे आकषर्क स्टार्टअप ‘इको सिस्टम’ भी तैयार हुआ है। भारत के युवाओं के जज्बे को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। नवाचार के प्रति उनकी लगन ने उत्कृष्ट परिणाम दिए हैं। यह अच्छा संकेत है कि हमारे स्टार्टअप से जुड़े युवा न सिर्फ बड़े बल्कि छोटे-छोटे शहरों से सामने आ रहे हैं।

Comments are closed.