डीडीसी चुनाव में बाधा पहुंचाना चाहते थे आतंकवादी :आईजीपी

समग्र समाचार सेवा
श्रीनगर,18नवंबर।
जम्मू-कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने गुरुवार को कहा कि नगरोटा-जम्मू राजमार्ग पर हुई मुठभेड़ में मारे गये आतंकवादी घाटी में होने वाले जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव में बाधा पहुंचाना चाहते थे। आईजीपी कुमार ने गुरुवार को डल झील के किनारे आयोजित एक कार्यक्रम से इतर कहा कि जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुई मुठभेड़ में मारे गए सभी चार आतंकवादी कश्मीर घाटी में डीडीसी चुनाव में बाधा पहुंचाना चाहते थे।

उन्होंने बताया कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के उस पार करीब 250 से 300 आतंकवादी मौजूद हैं जो कश्मीर घाटी में होने वाली भारी बर्फबारी से पहले भारतीय सीमा में घुसपैठ करना चाहते हैं लेकिन सुरक्षाबलों के जवान पूरी सतर्कता के साथ मुस्तैद हैं और आतंकवादियों की किसी भी कोशिश को सफल नहीं होने देंगे। दरअसल, भारी बर्फबारी के कारण घुसपैठ वाले रास्ते बंद हो जाते हैं।

डीडीसी चुनाव लड़ने वाले कुछ उम्मीदवारों का आरोप है कि उन्हें प्रचार करने के लिए पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जा रही है, इस पर आईजीपी कुमार ने कहा कि डीडीसी चुनाव लड़ने वाले सभी उम्मीदवारों को शुक्रवार से सुरक्षा मुहैया कराई जायेगी ताकि वे सुरक्षित तरीके से अपने-अपने क्षेत्रों में चुनाव प्रचार कर सकें। इसलिए उन्हें घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है।

बुधवार रात को पुलवामा जिले के काकपोरा में हुए ग्रेनेड हमले के बारे में आईजीपी ने कहा कि इस हमले में शामिल सभी आतंकवादियों की पहचान कर ली गयी है और जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

Comments are closed.